जमीनों   के  कमीनों  के  बढ.ते  भाव  तो देखो धरा गज,फुट में बिकती  है उजडते गांव तो दखो नारी, नर   के  आपस   में रगडते  पांव   तो देखो भारत  मां  की  छाती  में ये  सढते  घाव तो देखो लुटती  हैं सियासत  में  किसानों  की जमीने भी कमाते  हैं  दलालों  से   ये  सत्ता […]

जमीनों   के  कमीनों  के  बढ.ते  भाव  तो देखो
धरा गज,फुट में बिकती  है उजडते गांव तो दखो
नारी, नर   के  आपस   में रगडते  पांव   तो देखो
भारत  मां  की  छाती  में ये  सढते  घाव तो देखो

लुटती  हैं सियासत  में  किसानों  की जमीने भी
कमाते  हैं  दलालों  से   ये  सत्ता  के  कमीने भी
मॅंडराती   हैं    क्यों   चीलें  पुस्तैनी  धरोहर   में
यहाॅं  खेतों  से  चित्कारें उगलती  हैं सभी घर में

ये  मुर्दे  भी ,षरीरों  से  कफन  को  खींच लाते हैं
यहाॅं  सत्ता , विरोधी  भी , सियासी गीत  गाते हैं
ये  नाटक  रोज  चलता  है  वजीरों में दलालों में
सियारों  को  छिपे  देखो यहाॅं  षेरों की खालों में

जहाॅं  राजस्व  की  भूमि ,कब्जा  है  रियासत  का
जमीने  भी  बदलती  हैं ये जज्बा है सियासत  का
मंत्री   के  इषारों  से   यहाॅं  राजस्व    चलता  है
कमीनों  के  करारों  से   ये   कारोबार   फलता है

कहीं दाखिल कहीं खारिज भी होता हैं विरक्तों का
कॅंहा  दिखता  है  घोटाला यहाॅं पर ताज तख्तों का
यहाॅं  तो  धन  कुबेरों की  ही  लीजें रोज  कटती हैं
विरक्तोंऔर  कमीनो  से ये धरती  क्यों सिमटती है

क!!ही  अव्वल  ,क!ही दोयम, ये  पटवारी बताता है
य!हा   गुमनाम   खातो!   मे!  नेता  जी का खाता है
नौकरषाहो!  क्े  खातो!   मे!   बी0  बी  दर्ज होती है
सियासत  मे!  रियासत  मे! ये टी0वी0 मर्ज होती है

बिना   घरबार   के  डीलर  जमीनो!   को  दिखाते है!
सारा   माल   चैराहो!   के ,ये   दफ्तर   ही  खाते है!
पूरे    देष    के    खसरे,  खतौनी   इनके   हाथो! मे!
फाइल   भी   खिसकती  है  दलालो! की ही बातो! मे!

दो   परसेन्ट   के   धन्धे  मे!  लरखो!  वारे – न्यारे है!
दल्लो!   और   पुछल्लो!   के  हूकूमत   मे!   नजारे है!
सियासत  भी  जमीनो और कमीनो से ही चलती है
नेता   की   गृहस्थी   भी   कमीनो  से  ही पलती है
Custom Search

Do you have any contrary opinion to this post - Do you wish to get heard - You can now directly publish your opinion - or link to another article with a different view at our blogs. We will likely republish your opinion or blog piece at IndiaOpines with full credits